Subscribe for Newsletter

श्री लक्ष्मी रमणा जी की आरती (Shri Laxmi Ramana Ji Ki Aarti)

जय लक्ष्मी रमणा श्री जय लक्ष्मी रमणा,शरणागत जय शरण गोवर्धन धारणा | टेक 
जै जै युमना तट निकटित प्रगटित बटुवेषा |अटपट गोपी कुंज तट पट पर नटवर वेषा || जय० 
जय जय जय रघुवीर कंसारे |पति कृपा वारे संसारे || जय० 
जय जय गोपी पलक बन्धो |जय माता तुम कृष्ण कृपा सिन्धो || जय० 
जै जै भक्तजन प्रतिपालक चिरंजीवो विष्णो |मामुद्धर दिनो घरणीघर विष्णो || जय० 
जै जै कृष्ण निजपत रस सागर में |कुरु करुणा कुरु करुणा दास सखासिख में || जय०

 
Aarti Collection
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com