» नारी के लिए ही पति ही परमेश्वर 

नारी के लिए ही पति ही परमेश्वर

 
नारी के लिए ही पति ही परमेश्वरInformation related to नारी के लिए ही पति ही परमेश्वर.

भगवान ने बांसुरी बजाई, तो सभी गोपियां अपने घर को छोडकर आ गई। इस पर भगवान ने कहा कि आप अपने पति को छोड कर क्यों आ गई। कृष्ण की बात सुनते ही गोपियां रोने लगी और कहा प्रभु अपने से अलग मत करों। गोपियों की बात सुनने के बाद श्रीकृष्ण ने कहा कि नारी के जीवन में उसका सबकुछ उसका पति ही होता है।

 आज इस भारत देश की दशा क्या हो रही है पति अंधा हो गया हो या अपाहिज, तो उसकी पत्‍‌नी अपने बेटों से उसे आश्रम छोडने की बात करती है। ऐसी माताएं समझ लें ये अच्छा अपाहिज पति इस दुनिया में नहीं रहा तो तुम अपने बेटे के सामने ऊंची आवाज में बात नहीं कर सकती।

Like this Post :
Comment
 
Name:
Email:
Comment:
Posted Comments
 
"i am satisfied your mantra &gyan but iwant know upay of pitar dos so please help me"
Posted By:  mukesh mittal
 
"HAPPY NEW YEAR"
Posted By:  surendra kumar
 
"he iswar mughe sakti dena ki main kush kaam kar saku aur apna jeean yapan kar saku"
Posted By:  manoj
 
Upcoming Events
» , 23 November 2017, Thursday
» , 30 November 2017, Thursday
» , 3 December 2017, Sunday
» , 13 December 2017, Wednesday
» , 25 December 2017, Monday
» , 1 January 2018, Monday
Prashnawali

Ganesha Prashnawali

Ma Durga Prashnawali

Ram Prashnawali

Bhairav Prashnawali

Hanuman Prashnawali

SaiBaba Prashnawali
 
 
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
 
Dream Analysis
Dream
  like Wife, Mother, Water, Snake, Fight etc.
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com