|        |        |        |    
 
Wallpapers
   
 
 
 
  Vegetarian Restaurants
 
Like Our
Facebook Page
to Get
Regular Updates
धार्मिक स्थल
» Gurudwaras(गुरूद्वारे)
» अदभुत धार्मिक स्थल
» विशेष धार्मिक स्थल
» मुख्य धार्मिक स्थल

Subscribe for Newsletter

|| श्री गुरु गोरखनाथ का शाबर मंत्र~Guru Gorakhnath Shabar Mantra ||
 
Print  
ppp

श्री गुरु गोरखनाथ का शाबर मंत्र 


विधि - सात कुओ या किसी नदी से सात बार जल लाकर इस मंत्र का उच्चारण करते हुए रोगी को स्नान करवाए तो उसके ऊपर से सभी प्रकार का किया-कराया उतर जाता है. 

मंत्र 

ॐ वज्र में कोठा, वज्र में ताला, वज्र में बंध्या दस्ते द्वारा, तहां वज्र का लग्या किवाड़ा, वज्र में चौखट, वज्र में कील, जहां से आय, तहां ही जावे, जाने भेजा, जांकू खाए, हमको फेर न सूरत दिखाए, हाथ कूँ, नाक कूँ, सिर कूँ, पीठ कूँ, कमर कूँ, छाती कूँ जो जोखो पहुंचाए, तो गुरु गोरखनाथ की आज्ञा फुरे, मेरी भक्ति गुरु की शक्ति, फुरो मंत्र इश्वरोवाचा. 

 

मन्त्रः-
“ॐ गों गोरक्षनाथ महासिद्धः, सर्व-व्याधि विनाशकः ।
विस्फोटकं भयं प्राप्ते, रक्ष रक्ष महाबल ।। १।।
यत्र त्वं तिष्ठते देव, लिखितोऽक्षर पंक्तिभिः ।
रोगास्तत्र प्रणश्यन्ति, वातपित्त कफोद्भवाः ।। २।।
तत्र राजभयं नास्ति, यान्ति कर्णे जपाः क्षयम् ।
शाकिनी भूत वैताला, राक्षसा प्रभवन्ति न ।। ३।।
नाऽकाले मरणं तस्य, न च सर्पेण दश्यते ।
अग्नि चौर भयं नास्ति, ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं गों ।। ४।।
ॐ घण्टाकर्णो नमोऽस्तु ते ॐ ठः ठः ठः स्वाहा ।।”

 

विधिः- यह मंत्र तैंतीस हजार या छत्तीस हजार जाप कर सिद्ध करें । इस मंत्र के प्रयोग के लिए इच्छुक उपासकों को पहले गुरु-पुष्य, रवि-पुष्य, अमृत-सिद्धि-योग, सर्वार्त-सिद्धि-योग या दिपावली की रात्रि से आरम्भ कर तैंतीस या छत्तीस हजार का अनुष्ठान करें । बाद में कार्य साधना के लिये प्रयोग में लाने से ही पूर्णफल की प्राप्ति होना सुलभ होता है ।
विभिन्न प्रयोगः- इस को सिद्ध करने पर केवल इक्कीस बार जपने से राज्य भय, अग्नि भय, सर्प, चोर आदि का भय दूर हो जाता है । भूत-प्रेत बाधा शान्त होती है । मोर-पंख से झाड़ा देने पर वात, पित्त, कफ-सम्बन्धी व्याधियों का उपचार होता है ।
१॰ मकान, गोदाम, दुकान घर में भूत आदि का उपद्रव हो तो दस हजार जप तथा दस हजार गुग्गुल की गोलियों से हवन किया जाये, तो भूत-प्रेत का भय मिट जाता है । राक्षस उपद्रव हो, तो ग्यारह हजार जप व गुग्गुल से हवन करें ।
२॰ अष्टगन्ध से मंत्र को लिखकर गेरुआ रंग के नौ तंतुओं का डोरा बनाकर नवमी के दिन नौ गांठ लगाकर इक्कीस बार मंत्रित कर हाथ के बाँधने से चौरासी प्रकार के वायु उपद्रव नष्ट हो जाते हैं ।
३॰ इस मंत्र का प्रतिदिन १०८ बार जप करने से चोर, बैरी व सारे उपद्रव नाश हो जाते हैं तथा अकाल मृत्यु नहीं होती तथा उपासक पूर्णायु को प्राप्त होता है ।
४॰ आग लगने पर इक्कीस बार पानी को अभिमंत्रित कर छींटने से आग शान्त होती है ।
५॰ मोर-पंख से इस मंत्र द्वारा झाड़े तो शारीरिक नाड़ी रोग व श्वेत कोढ़ दूर हो जाता है ।
६॰ कुंवारी कन्या के हाथ से कता सूत के सात तंतु लेकर इक्कीस बार अभिमंत्रित करके धूप देकर गले या हाथ में बाँधने पर ज्वर, एकान्तरा, तिजारी आदि चले जाते हैं ।
७॰ सात बार जल अभिमंत्रित कर पिलाने से पेट की पीड़ा शान्त होती है ।
८॰ पशुओं के रोग हो जाने पर मंत्र को कान में पढ़ने पर या अभिमंत्रित जल पिलाने से रोग दूर हो जाता है । यदि घंटी अभिमंत्रित कर पशु के गले में बाँध दी जाए, तो प्राणि उस घंटी की नाद सुनता है तथा निरोग रहता है ।
९॰ गर्भ पीड़ा के समय जल अभिमंत्रित कर गर्भवती को पिलावे, तो पीड़ा दूर होकर बच्चा आराम से होता है, मंत्र से १०८ बार मंत्रित करे ।
१०॰ सर्प का उपद्रव मकान आदि में हो, तो पानी को १०८ बार मंत्रित कर मकानादि में छिड़कने से भय दूर होता है । सर्प काटने पर जल को ३१ बार मंत्रित कर पिलावे तो विष दूर हो ।

 
Back
 
Like Our Facebook Page, to Get Regular Updates
 
Mantra Collection
» प्राणायाम मंत्र~Pranayama Mantra
» प्राणायाम मंत्र~Pranayama Mantra
» सिद्धि प्राप्ति हेतु काली के कुल्लुकादि मन्त्र
» कार्य~सिद्धि कारक गोरक्षनाथ मंत्र
» गर्भ~चण्डी
» गर्भ रात्रि~सूक्तम्
» गर्भ~शाप विमोचन
» वशीकरण का मन्त्र
» सकल मनोरथ सिद्धि मन्त्र
» श्री गुरु गोरखनाथ का शाबर मंत्र~Guru Gorakhnath Shabar Mantra
» Mahishasura Mardini Stotram~महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रम् :
» गणेश गायत्री मन्त्रः
» Genesha Mantra
» गुरु गायत्री मन्त्रः
» Parshuram Mantra
» लोक कल्याण कारक शाबर मन्त्र
» अनुभूति करने का मन्त्र
» वशीकरण का अनूठा प्रयोग
» भगवान शनि के प्रमुख मंत्र
» शत्रु को मित्र बनाने का मन्त्र
» शत्रु परास्त करने का मन्त्र
» शरीर स्वस्थ रखने का मन्त्र
» संकट में रक्षा का उपाय मन्त्र
» ज्वर उतारने का मन्त्र
» भक्ति भावना बढ़ाने का मन्त्र
» सामाजिक यश (सुख) का मन्त्र
» Hanuman sidhi shabar mantra
» Hanuman ashtadashakshar mantra prayog
» Mantra for protection
» ब्रह्मास्त्र माला मंत्र
» पीताम्बरा बगलामुखी खड्ग मालामन्त्र
» सामूहिक कल्याण के लिये मन्त्र
» विश्व के अशुभ तथा भय का विनाश करने के लिये मन्त्र
» विश्व के पाप ताप निवारण के लिये मन्त्र
» विश्वव्यापी विपत्तियों के नाश के लिये मन्त्र
» विश्व के अभ्युदय के लिये मन्त्र
» विश्व की रक्षा के लिये मन्त्र
» विपत्तिनाश और शुभ की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» भय नाश के लिये मन्त्र
» पाप नाश के लिये मन्त्र
» विपत्ति नाश के लिये मन्त्र
» रोग नाश के लिये मन्त्र
» महामारी नाश के लिये मन्त्र
» आरोग्य और सौभाग्य की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» सुलक्षणा पत्‍‌नी की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» सर्वविध अभ्युदय के लिये मन्त्र
» बाधा शान्ति के लिये मन्त्र
» विविध उपद्रवों से बचने के लिये मन्त्र
» प्रसन्नता की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» शक्ति प्राप्ति के लिये मन्त्र
» रक्षा पाने के लिये मन्त्र
» समस्त विद्याओं की और समस्त स्त्रियों में मातृभाव की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» दारिद्र्यदु:खादिनाश के लिये मन्त्र
» सब प्रकार के कल्याण के लिये मन्त्र
» बाधामुक्त होकर धन पुत्रादि की प्राप्ति के लिये मन्त्र
» कन्या राशि का मन्त्र (Virgo Mantra)
» सिंह राशी का मन्त्र (Leo Mantra)
» कर्क राशि का मन्त्र (Cancer Mantra)
» मिथुन राशि का मन्त्र (Gemini Mantra)
» वृष राशि का मन्त्र (Taurus Mantra)
» मेष राशि का मन्त्र (Aries Mantra)
» श्री दुर्गा गायत्री मन्त्र (Sri Durga Gayatri Mantra)
» श्री चामुण्डा मन्त्र (Shri Chamunda Mantra)
» श्री शीतला स्तुति (Shri Sheetla Stuti)
» श्री काली स्तुति (SRI KALI MATA MANTRA)
» श्री वेद स्तुति (Shri Ved Stuti)
» श्री गंगा जी की स्तुति (Shri Ganga Stuti)
» शयन का मन्त्र (Shayan Mantra)
» क्षमा प्रार्थना मन्त्र (Apologies Mantra)
» सायं दीप स्तुति मन्त्र (Sanye Deep Stuti Mantra)
» भोजन के बाद का मन्त्र (Mantra after having Meal)
» भोजन से पूर्व बोलने का मन्त्र (Mantra before having Meal)
» अग्नि जिमाने का मन्त्र (Mantra of Fire Jimane)
» भोग लगाने का मन्त्र (Bhog Lgane Ka Mantra)
» अन्नपूर्णा मन्त्र (Annapurna Mantra)
» नवग्रह मन्त्र (Navgraha Mantra)
» प्रदक्षिणा मन्त्र (Encompass Pradishina Mantra)
» शंख पूजन मन्त्र (Shell Worship Shankh Poojan Mantra)
» पीपल पूजन मन्त्र (Pipal Poojan Mantra)
» तुलसी स्तुति मन्त्र (Basil Tulsi Stuti Mantra)
» माला जपते समय का मन्त्र (Mala Japte Samay ka Mantra)
» तिलक लगाने का मन्त्र (Tilak Lagane Ka Mantra)
» सूर्य दर्शन मन्त्र (Surya Darshan Mantra)
» चन्द्र अर्ध्य मन्त्र (Chandra Ardhaya Mantra)
» चरणामृत मन्त्र (Charnamrit Mantra)
» आसन व शरीर शुद्धि मन्त्र (Aasan v Sharir Shudhi Mantra)
» सूर्य अर्घ्य मन्त्र (Surya Ardhya Mantra)
» स्नान मन्त्र (Bathing Snanan Mantra)
» श्री राम के जप मन्त्र (Shri Ram ke Jap Mantra)
» आपदाओं से त्राण पाने का मन्त्र (Aapdhayo Se Tran Pane Ka Mantra)
» भय से मुक्ति मन्त्र (Bhay Se Mukti Mantra)
» सन्तान सुख मन्त्र (Santan Sukh Mantra)
» ग्रह पीड़ा नक्षत्र दोष दूर करने का मन्त्र (Grha Pida Nakshtra Dosh Dour Karne Ka Mantra)
» मुकदमें में विजय का मन्त्र (Mukadme Me Vijay Ka Mantra)
» निर्विघ्न निद्रा मन्त्र (Nirvighan Nindra Mantra)
» दुख विनाशक मन्त्र (Dukh Nivashak Mantra)
» सम्पत्ति प्राप्ति मन्त्र (Sampati Prapti Mantra)
» सफ़लता प्राप्ति मन्त्र (Safalta Prapti Mantra)
» स्वास्थ्य प्राप्ति मन्त्र (Swasthay Prapti Mantra)
» श्री नवदुर्गा रक्षामंत्र (Sri Navdurga Raksh Mantra)
» श्री विष्णु मूल मन्त्र
» श्री महामृत्युंजय मंत्र (Sri Maha Mritunjay Mantra)
» श्री विष्णु मन्त्र (Sri Vishnu Mantra)
» वृश्चिक राशि का मन्त्र (Scorpio Mantra)
» श्री सूर्य मंत्र (Sri Surya Mantra)
» धनु राशि का मन्त्र (Sagittarius Mantra)
» मकर राशि का मन्त्र (Capricorn Mantra)
» कुम्भ राशि का मन्त्र (Aquarius Mantra)
» चन्द्र मन्त्र (Moon Mantra)
» श्री लक्ष्मी मंत्र (SRI LAXMI MANTRA)
» मंगल मन्त्र (Mangal Mantra)
» बुध मन्त्र (Budh Mantra)
» श्री हनुमान मंत्र (SRI HANUMAN MANTRA)
» बृहस्पति मन्त्र (Brhaspati Mantra)
» शुक्र मन्त्र (Shukr Mantra)
» गायत्री मन्त्र (GAYATRI MANTRA)
» शनि मन्त्र (Shani Mantra)
» राहू मन्त्र (Rahu Mantra)
» केतु मन्त्र (Ketu Mantra)
» सिद्धि के लिए श्री गणेश मंत्र (Siddhi Ke Liye Ganesha Mantra)
» श्री गणेश मूल मंत्र (SRI GANESH MOOL MANTRA)
» हनुमान दर्शन हेतु मंत्र (Hanuman Darshan Hetu Mantra)
» देवी मन्त्र (DEVI MANTRA)
» मीन राशि का मन्त्र (Pisces Mantra)
» Lord Dhanvantari Mantra
» Dhanvantri Mantra
» शीतला माता मंत्र (Sheetla Mata Mantra)
» काली मंत्र
» सूर्य मंत्र (Surya Mantra)
» गायत्री मंत्र (Gaytri Mantra)
» हनुमान मंत्र (Lord Hanuman Mantra)
» श्री लक्ष्मी मंत्र( Shree Laxmi Mantra)
» श्री विष्णु मन्त्र (Shree Vishnu Mantra)
» श्री गणेश मूल मंत्र
» देवी मन्त्र
» Lord Ganesha Mantra
» shani dev mantra
» शनि देव मन्त्र (Shani Dev Mantra)
» महामृत्युंजय मंत्र
» Lord Shiva Mantra
 
 
 
Festivals
» Festival Calender of 2013
» Festival Calender of 2014
 
 
Find More
 
Quick List
   |    |   
 
 
Google+   
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.