Inspiration - (कीर्तन करो, स्वस्थ रहो)
- जितनी देर हम कीर्तन कर रहें है कोई पाप नहीं हो रहा ना ही हम कोई बुरा विचार भी कर रहे होते है . - वह समय दैवीय शक्ति के स्मरण में , आराधना में , यानी की उच्च चेतना में व्यतीत होता है . - माता की सेवा हो जाती है . - कोई भी जाप , पूजा जब समूह में की जाती है तो वह ज़्यादा असरकारक हो जाती है . - सभी वाद्यों जैसे ढोलक , मंजीरा आदि के बजने से उत्साह की वृद्धि होती है और नकारात्मकता समाप्त होती है . - जितनी देर ताली बजायेंगे , सभी एक्यूप्रेशर के पॉइंट्स दबने से सेहत अच्छी हो जाती है . - थोड़ी देर सिर्फ उँगलियों से ताली बजाये . इसमें कोई आवाज़ नहीं आएगी पर मन में ताल तो बना रहेगा और उँगलियों के सभी पॉइंट्स दबेंगे . - फिर थोड़ी देर कलाई आपस में टकराए . इससे वहां के पॉइंट्स भी दबेंगे . - इस तरह माता को याद करते करते सेहत मिलेगी . तो प्रेम से बोलो " जय माता दी " कहते जाओ "जय माता दी "
Subscribe for Newsletter
Sun Sign Details

Aries

Taurus

Gemini

Cancer

Leo

Virgo

Libra

Scorpio

Sagittarius

Capricorn

Aquarius

Pisces
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
Ringtones
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com