Subscribe for Newsletter
Holi~होली - रखें ध्यान होली खेलते समय और केसे छुडाएं रंग

रंगों का त्योहार होली की खुमारी धीरे-धीरे लोगों पर चढऩे लगा है। हिंदू पंचाग के अनुसार, फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला होली का त्योहार वसंत पंचमी से ही आरंभ हो जाता है। दरअसल इसी दिन साल में पहली बार अबीर और गुलाल लगाया जाता है। रंगों का त्योहार होली खेलना तो हर कोई चाहता है, लेकिन डर केवल इस बात का होता है कि होली खेलने के दौरान रंगों से शरीर की त्वचा न खराब हो जाए। हालांकि यह डर महिलाओं कुछ ज्यादा ही सताता है। इसलिए मन मारकर वह होली नहीं खेलती हैं।और जो खेलती भी हैं, वह यह डर-डरकर खेलती हैं कि कहीं उनकी त्वचा न खराब हो जाए। जिससे होली का सारा मजा किरकिरा हो जाता है। होली की मस्ती बरकरार रखने के लिए जरूरी है इसे सही ढंग से खेला जाए।

इन टिप्स को अपनाएं। और खुल कर होली खेलने का लुफ्त उठाएं—–

1- होली खेलने के आधे घंटे पहले अपने शरीर के खुले हिस्सों पर कोल्ड क्रीम, वैसलीन या तेल लगाएं। (सरसों तेल, ऑलिव ऑयल या नारियल तेल लगाने से त्वचा पर रंगों की पकड़ हल्की हो जाती है जिससे रंग आसानी से निकल जाता है। )
2- अक्सर महिलाएं होली खेलते समय शरीर का तो ध्यान रखती हैं, लेकिन नाखून का ध्यान नहीं देती हैं। जो कि शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी है। इसलिए इस पर ध्यान दिया जाना उतना ही जरूरी है। रंगो से नाखूनों को बचाने के लिए उन पर नेलपॉलिश लगा लें। हो सके तो रंग खेलने से पहले नाखून काट लें।

3- होली खेलने के दौरान अक्सर खींचतान में कपड़े की सिलाई खुलने या फटने का डर होता है। इसलिए ध्यान रखें कि कपड़े ज्यादा पुराने भी न हों कि आपको शर्मिदगी उठानी पड़े। पूरे बदन को ढंकने वाले कपड़े जैसे कि सलवार -सूट, जींस-पैंट ही पहनें। इससे काफी हद तक शरीर का रंगों से बचाव हो जाता है।

ध्यान दें, चूंकि होली में पानी का ज्यादा प्रयोग होता है। इसलिए होली के दिन या उसके आसपास सफेद या हल्के रंग के कपड़े इस्तेमाल करने से बचें। क्योंकि पानी में भींग कर यह पारदर्शी हो जाता है। जिससे आपको शर्मिंदगी उठानी पड़ सकती है। विशेषकर महिलाएं इन बातों का जरूर ध्यान रखें। इस दौरान गहरे रंग वाले कपड़े ही पहनें।

4- अपनी ज्वेलरी उतार कर ही होली खेलें। क्योंकि होली के छेड़-छाड़ में ज्वेलरी गिरने और रंग पडऩे से इसके खराब होने का भी चांस ज्यादा होता है।

5- होली खेलने से पहले अपने बालों में तेल डाल दें। अपनी बालों को कतई खुला न छोड़ें। उसे ढ़ंककर रखें, जिससे आपकी बालों का बचाव हो सके।

ये हें होली का रंग छुड़ाने के टिप्स—-

1- दो चम्मच नींबू के रस में आधी कटोरी दही मिलाएं इस उबटन रंगवाले हिस्सों में लगाएं फिर कुछ देर लगा रहने के बाद ताजे या गरम पानी से नहा लें। इससे आपका रंग जरूर उतर जाएगा।

2- संतरे के छिलके को मसूर दाल और बादाम के साथ दूध में पीसकर पेस्ट बनाएं और इस पेस्ट को उबटन की तरह लगाएं। इससे रंग तो उतरेगा ही साथ ही आपका चेहरा भी साफ होकर निखर उठेगा।

3- खीरे के रस में थोड़ा सा गुलाबजल और एक चम्मच विनिगर मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इस मिश्रण से चेहरा धोने से भी रंग निकल जाता है।

4- बेसन, मीठा तेल और मलाई इन तीनों को जरूरत के अनुसार लेकर इसमें हल्का सा पानी मिलाकर इसका गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। इसे चेहरेे के साथ-साथ अपने हाथ व पैरों पर लगाएं। फिर इसे सुखने दें, सुखने के बाद हाथ से मसल कर इसे निकाल दें। आपकी त्वचा पर लगा रंग उतर जाएगा।

5- खीरे को कद्दूकस करें फिर उसके रस को दूध में मिलाकर बेसन या आटा मिलाकर पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे लगाने से भी चेहरा साफ हो जाता है।

6- अगर रंग ज्यादा गहरा हो तो आप केरोसिन तेल में एक कपड़ा भिंगोकर जहां रंग लगा हो वहां हल्के हाथ से रगडें। इससे आपके शरीर पर लगा रंग निकल जाएगा।

7- नहाने के बाद शरीर पर क्रीम लगाना न भूलें।

यदि आप इन बातों को ध्यान में रखकर होली खेलेंगे तो आपका चेहरा खिलेगा ही, साथ ही होली का मजा भी दुगुना हो जाएगा। और आप फिर बेसब्री से अगली होली आने का इंतजार करेंगे ।

 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com