Subscribe for Newsletter
Lord Dhanvantari

Lord Dhanvantari

Lord Dhanvantari
 लोक-कल्याणार्थ एवं जरा आदि व्याधियों को नष्ट करने के लिए स्वयं भगवान विष्णु धन्वन्तरि के रूप में कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को प्रकट हुए थे, अतः आयुर्वेद-प्रेमी भगवान धन्वन्तरि के भक्तगण एवं आयुर्वेद के विद्वान हर वर्ष इसी दिन आरोग्य-देवता के रूप में उनकी जयंती मनाते हैं।

भगवान धन्वन्तरि का संपूर्ण पूजनादि कृत्य भगवान विष्णु के मंत्रों या पुरुष सूक्त से ही करना चाहिए। साथ ही विष्णु मंत्रों का जप एवं उनकी दिव्य कथाओं का श्रवण भी करना चाहिए। निम्नलिखित मंत्रों से भी पूजन कर जप व यज्ञ कार्य को पूर्ण करें। दिन व रात्रि में भगवन्ताम संकीर्तन भी करें।

 
 
Comments:
 
 
Ringtones
 
Vastu Tips
  Bhoomi Poojan
  Rooms Positions in Vastu
  What are the reasons for Vastu
  Sleeping positions and directions
  मैरेज लाइफ में खुशियां लाने के लिये वास्‍तु टिप्‍स
  Importance of Vaastushastra
  Vastu Career Tips
  Vastu for Industries
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com