Home » Lal Kitab Remedies » दुर्भाग्य दूर करने हेतु उपाय

दुर्भाग्य दूर करने हेतु उपाय

आटे का चौमुखा दिया, 4 रुई की बत्ती,
सरसों का तेल, 1 नीबू, 7 लाल मिर्च, 7 लड्डू (बूंदी के), 2 लौंग, 2 बड़ी इलायची, केले का पत्ता ! शनिवार को सूर्यास्त के बाद सुनसान चौराहे पर जाकर पत्ते को रख दें और सब सामग्री को भी 1 – 1 करके रख दे फिर आटे के दीपक में 4 रुई की बत्तियां रखकर तेल डालकर चारो बत्तियो को जलाये व प्रार्थना करें !

जब घर से निकले तब यह प्रार्थना करें -” हे दुर्भाग्य, संकट,विपत्ती आप मेरे साथ चलें” और दीपक जलाने के बाद यह प्रार्थना करें कि- “मैं विदा हो रहा हूँ | आप मेरे साथ न आयें और यही पर रहे !” यह बोलकर वापस घर आ जाये , पीछे मुड़कर ना देखे !

भाग्य साथ ही नहीं देता है,

बल्कि दुर्भाग्य निरन्तर पीछा करता रहता है !
दुर्भाग्य से बचने के लिए या दुर्भाग्य नाश के लिए यहां एक
अनुभूत सरल तांत्रिक उपाय बताया गया हैं ! उपाय
लाभकारी है ! इसको बिना शंका के – पूर्ण आस्था के
साथ करने से दुर्भाग्य का नाश होकर सौभाग्य
वृद्धि होती है ! इस उपाय से चारों दिशाओ के रास्ते
खुल जाते हैं |

 
 
 
Comments:
 
 
 
 
UPCOMING EVENTS
  Varuthini Ekadashi Vrat, 7 May 2021, Friday
  Parshuram Jayanti, 14 May 2021, Friday
  Akshaya Tritiya, 14 May 2021, Friday
  Ganga Saptami, 18 May 2021, Tuesday
  Sita Navami, 21 May 2021, Friday
  Mohhini Ekadashi, 23 May 2021, Sunday
 
 
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
Subscribe for Newsletter
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com